Skip navigation.
कृण्वन्तो विश्वमार्यम्

भजन/कविता

  • Login to post a new forum topic.
 TopicRepliesCreatedLast replysort icon
आर्य कुमरों यही व्रत धारो देश जगाना है।07 years 3 weeks ago
by Rajendra P.Arya
n/a
ऐसी बिगड़ी है शिक्षा वतन की जो पढ़ाने के काबिल नहीं है।07 years 3 weeks ago
by Rajendra P.Arya
n/a
ओ वतन के नोजवां जा रहा है तू कहां।07 years 3 weeks ago
by Rajendra P.Arya
n/a
भला करो भगवान सबका भला करो 17 years 3 weeks ago
by Rajendra P.Arya
7 years 3 weeks ago
by The demon of de...
न गाया ईश गुण, माया का गुण गाया तो क्या गाया07 years 3 weeks ago
by Rajendra P.Arya
n/a
सुखी बसे संसार सब दुखिया रहे न कोय /07 years 3 weeks ago
by Rajendra P.Arya
n/a
अटल है इरादा, अपने राष्ट्र को बचायेंगे।07 years 3 weeks ago
by Rajendra P.Arya
n/a
जिस दिन घमंड अपने सर से उतार देगा17 years 3 weeks ago
by Rajendra P.Arya
7 years 3 weeks ago
by aarya.basant
सुनलो समय की पुकार 07 years 3 weeks ago
by Rajendra P.Arya
n/a
सदा फूलता फलता भगवन, यह याजक परिवार रहे 07 years 3 weeks ago
by Rajendra P.Arya
n/a
तुम्हीं मेरे बन्धु सखा तुम ही मेरे / 07 years 3 weeks ago
by Rajendra P.Arya
n/a
तुम्हारे दिव्य दर्शन की मैं इच्छा ले के आया हूँ 17 years 3 weeks ago
by Rajendra P.Arya
7 years 3 weeks ago
by The demon of de...
उठो दयानंद के सिपाहियों समय पुकार रहा 17 years 3 weeks ago
by Rajendra P.Arya
7 years 3 weeks ago
by The demon of de...
अगर ऋषिवर की बातों पर जमाना चल गया होता।17 years 3 weeks ago
by Rajendra P.Arya
7 years 3 weeks ago
by The demon of de...
जमाने को सच्चा सखा मिल गया।07 years 3 weeks ago
by Rajendra P.Arya
n/a
संसार के वाली ने संसार रचाया है।07 years 3 weeks ago
by Rajendra P.Arya
n/a
कृण्वन्तो विश्वमार्यम् नहीं भुलाना है।17 years 3 weeks ago
by Rajendra P.Arya
7 years 3 weeks ago
by The demon of de...
ओम् नाम का सुमिरन करले कर दे भव से पार तुझे।07 years 3 weeks ago
by Rajendra P.Arya
n/a
बीहड़ वन में विचर रहा था सच्चे शिव का मतवाला।17 years 3 weeks ago
by Rajendra P.Arya
7 years 3 weeks ago
by The demon of de...
सुखधाम सदा तेरा नाम सदा07 years 3 weeks ago
by Rajendra P.Arya
n/a
वधशाला में बछड़े का यूं गऊ से बयान है।07 years 3 weeks ago
by Rajendra P.Arya
n/a
भगवान् मेरी नैया उस पार लगा देना।07 years 3 weeks ago
by Rajendra P.Arya
n/a
दुनियां वालो देव दयानंद 07 years 3 weeks ago
by Rajendra P.Arya
n/a
वेद अनुकूल 07 years 3 weeks ago
by Rajendra P.Arya
n/a
धरती की शान तू है मनु की सन्तान 07 years 3 weeks ago
by Rajendra P.Arya
n/a
Syndicate content