Skip navigation.
कृण्वन्तो विश्वमार्यम्

समलैंगिकता और किन्नर प्रथा ???? शिखण्डी ?

शिखण्डी क्या था?? क्या शिखण्डी पूर्व जन्म की बातें जानता था? क्या वो समलैंगिक था?
क्या वेद समलैंगिकता को मान्यता देते हैं? किन्नरों को देवता क्यों कहा जाता है?

मानवीय

मानवीय दुर्बलताएं प्रथम से ही रही हैं; केवल अनुपात में भिन्नता होती है.
आगे आप स्वयम् विचार करें.
= भावेश मेरजा

ॐ... Samajh gaya bhavesh

ॐ... Samajh gaya bhavesh ji. Uttar chhota diya parantu samasya samapt ho hi gai lagti hai.

ॐ...Ek prashn jaaga hai

ॐ...Ek prashn jaaga hai man me. Prashn is prakar hai-
kya koi poorvajanm ki baate yaad rakh sakta hai? Shri krishn ko kya pichhle janm ke baare me jaankari thi?

कोई भी

कोई भी जीवात्मा अपनी इच्छा से अपने पूर्व जन्मों के बारे में नहीं जान सकता. ये सारी बातें ईश्वर ही जानता है.
योगी व्यक्ति अपने पूर्व जन्मों के बारे में अच्छा अनुमान कर सकता है, क्योंकि वह ईश्वर प्रदत सामर्थ्य से अपने चित्त तथा संस्कारो को जान पाने में समर्थ होता है.
आप सत्यार्थ प्रकाश का अध्ययन करें. ऐसी कई शंकाएँ निर्मूल हो जायेगी.
= भावेश मेरजा