Skip navigation.
कृण्वन्तो विश्वमार्यम्

नवीन महानुभवों के स्व-सम्बोधन‌

आर्य्यसमाज की इस वैबसाईट पर नित्य कईं विद्वान महानुभाव सदस्यता ग्रहण करते हैं | उनके लिखे हुए स्व सम्बोधन अति प्रेरणादायक भी होते हैं जिन्हें हम 'user list' के अन्त में जाकर इनके नाम पर क्लिक कर देख सकते हैं | मैं तो इन आर्य्यजनों से आग्रह करूंगा कि वह अपना परिचय यदि मुख्यपृष्‍ठ पर भी दे सकें तो अति उत्तम होगा |
आनन्द‌

नमस्ते

नमस्ते आनंद जी,
मैंने भी कुछ लोगो के नाम पर क्लिक करके देखा परन्तु मै तो प्रेरणा दायक स्व-संबोधन खोज नहीं पाया.
कृपया विस्तार से बताये तो आपकी पोस्ट का फायदा होगा.
आपका धन्यवाद,
दीपेन्द्र

नमस्ते

नमस्ते दीपेन्द्र जी
सुबह जब मैं आपका उत्तर देना चाहता था तो फाँट्स की बहुत गड़‌बड़ी दिखाई दे रही थी , अतः मैं रुक गया | अब ठीक है |आपका शायद यह पहला सम्बोधन है आपका स्वागत है | जहाँ तक बात है महानुभावों के स्व सम्बोधन की( अपने परिचय की) तो क्‍ई बार आपकौ कुछ परिचय अवश्य ही भाते हैं | आपने कहा है तो मैं कुछ एक परिचय‌ आंशिक रूप में अवलोकन हेतु दे रहा हूँ |

Namaste ,
I am a computer engineer, working abroad . have atteneded twice the sibit in Aryasamaj Rojad Gujarat. heard many pravachan and discourses on various darshan shashtra and upnishad from Swami Vivekandnadji ( former name vivekbhusanji) . Have started channels "http://vimeo.com/hareshpatani/channels" to let people know about vedas, darshan

Haresh Patani

मम नाम आचार्य धनञ्जय शास्त्री ’जातवेदा:’। मम परिवारे सर्वे संस्कृतभाषां वदन्ति । वयं प्रतिदिनं यज्ञं कुर्म: । वर्तमाने अहम् अग्निदूत पत्रिकाया: {छगप्रान्तीय आर्यप्रतिनिधिसभाया:} कार्यकारी संपादक:।
पत्रसंकेत: दयानन्द परिसर

आचार्य धनञ्जय शास्त्री जातवेदा:

I am a budding neurosurgeon at Chennai. I a try to live as per the core of my knowledge and try to improve upon my concept of core of life - probably thats called 'self knowledge'.

Dr. Manish Kumar

Interested in knowing about the Vedas

D.VENKATASRINIVASAN

My father is a an arya samajist .ihave studied hindi at primary school,yet we followed the vedic prayers at our local paathshalla.I want to initiate my son ,who is 14 ,with the vedic sandhyas and prayers

Rajendranath ram
Mauritius

Namaste Aanand ji,

Namaste Aanand ji,
Thank you very much for the welcome. I have seen that you are one of the most active members and really liked your posts.
Actually that day I clicked on few member names and did not find their self-address. But now I fully agree with you that these are really good and we can be benifitted with them if they coe on the front page.

धन्यवाद

धन्यवाद दीपेन्द्र जी
बहुत अच्छे विद्वान हम लोगों के बीच हैं | मैं आशा करता हूं वे सभी हमें मार्ग दर्शन देते रहे हैं व देते रहेंगे |
आनन्द‌

ॐ...welcome to

ॐ...welcome to aryasamaj.org DEEPENDRA ! as ananda ji said Please introduce yourself. Your hobbies, interests, bio, etc. Have you read Vedas etc.? AP TEXAS, USA SE HAIN PAR HINDI UTTAM HAI. PLEASE WRITE IN YOUR 'BLOG' ABOUT YOURSELF.

प्रिय बसंत

प्रिय बसंत जी,
आर्यसमाज ओर्ग पर स्वागत करने के लिया महती धन्यवाद. जहाँ तक हिंदी की बात है तो वो तो हर भारतीय की अच्छी होनी ही चाहिए.
और मै टेक्सास में अभी २ महीने से ही आया हूँ वैसे मै एक सॉफ्टवेर इंजिनियर हूँ और यहाँ कंपनी के प्रोजेक्ट पे कुछ महीने के लिए आया हूँ.
वेद तो नहीं परन्तु स्वामी जी के कुछ ग्रन्थ पढ़े है मैंने. इसके अतिरिक्त आर्य समाज का कुछ साहित्य पढ़ा है.

Aarya basant ji, Please

Aarya basant ji,
Please use the font tag carefully, otherwise your posts maybe deleted.
Dhanyavad,
Anupam.
Site Admin

ॐ...what is font tag?

ॐ...what is font tag? Sorry if i did mistake. Please tell me how to write useful articles here. Sorry again admin sir/\ॐ...