Skip navigation.
कृण्वन्तो विश्वमार्यम्

श्री स्वामी रामदेवजी का भ्रष्टाचार तथा काला धन विरुद्ध संघर्ष

कल दिल्ली के रामलीला मैदान में आयोजित श्री रामदेवजी तथा अन्य नेताओं की भ्रष्टाचार तथा काला धन विरुद्ध रैली आस्था चेनल पर देखी । जिसमें स्वामी अग्निवेशजी, अन्ना हजारेजी, राम जेठमलानी आदि कई अन्य नेता भी उपस्थित थे । श्री रामदेवजी के गुरुजी पू० आचार्य बलदेवजी भी थे । मुसलमानों के नेता भी थे । हिंदू संगठनों के शीर्षस्थ नेता दिखलाई नहीं दिये ।

पूज्य श्री स्वामी रामदेवजी महाराज कई वर्षों से देशवासियों को व्यायाम-प्राणायाम, आयुर्वेद, धर्म-अध्यात्म आदि के साथ साथ राष्ट्रीय धर्म का पाठ भी पढा रहे हैं । इससे लोगों में स्वाभिमान जागृत होगा ही। भ्रष्टाचार को तथा काला धन और भ्रष्ट राजनीति को आखिर जनता कितने दिन ऐसे ही सहन करती रहेगी ? कोई भी देश महान तब ही बन पाता है, जब उसके देशवासियों का नैतिक, सामाजिक तथा राष्ट्रीय जीवन उन्नत व पवित्र हो । स्वामी रामदेवजी के सत्प्रयासों का स्वागत करना चाहिए । वे प्रचण्ड पुरुषार्थ कर रहे हैं । पूरी शक्ति से लगे हुए हैं । उनका उत्साह और लगन नमस्कार करने योग्य है । वे विघ्न - बाधाओं से डरने वाले नहीं हैं । आखिर वैदिक गुरुकुल के स्नातक हैं और आर्य समाज के प्रवर्त्तक महान समाज सुधारक महर्षि दयानन्द को अपना आध्यात्मिक गुरु मानकर इस महान कार्य को कर रहे हैं । मेरा व्यक्तिगत अनुमान है कि कोई भी राजनैतिक दल स्वामी रामदेवजी को राजनीति में सर्वात्मना सहयोग नहीं करेगा । शर्तों के आधार पर सहयोग कर सकता है । वैसे स्वामी रामदेवजी का कार्यक्रम तो एकदम राष्ट्रीय ही है । फिर भी हमारे हिन्दू संगठन उसके नेतृत्व को मान्य करेंगे ऐसा नहीं लगता ।

दूसरी बातः स्वामी रामदेवजी को पर्याप्त सुरक्षा-कवच के साथ ही काम करना चाहिए । अन्यथा उनके पावन शरीर को कोई भी असामाजिक द्वेषी तत्त्व हानि पहुंचा सकता है । अतः बिना सुरक्षा नहीं रहना चाहिए । महर्षि दयानन्द, स्वामी श्रद्धानन्द, पं० लेखराम, गांधीजी आदि कई महात्माओं को अगर पर्याप्त सुरक्षा प्रदान की गई होती तो उनकी हत्याएं नहीं हो पाती । मृत्यु तो अवश्यंभावी है, मगर अकाल दुर्घटनाओं को प्रयत्न से टाला भी जा सकता है ।

= भावेश मेरजा

उस दिन

उस दिन रामलीला मैदान में उमढ़े जन समूह ने भारत की सरकार‌ को एक ट्रेलर तो दिखा ही दिया है कि बाबा रामदेव जी की कितनी शक्‍ति है, जन समूह में कितना आक्रोश है तथा अब देश के प्रबुद्ध् लोग भी कैसे आगे बढ़ च‌ढ़ कर इस भ्रष्‍टाचार के विरुद्ध संघर्ष में स्वामीजी के साथ पूरी शक्ति से जुड़ चुके हैं |

आनन्द‌

जो व्यक्ति

जो व्यक्ति बाबा के ट्रस्ट में काला धन लगे होने की बात करता है वह यह क्यों नहीं सोचता की यह धन जनता के हित में लगा है बाबा को तो एक कपडे से अधिक नहीं चाहिए .

He is fighting for the sake

He is fighting for the sake of country.

Swami Ramdevji is right in

Swami Ramdevji is right in taking up issues like corruption and black money in open forum of Janta.Baba should also keep himself away from vested interested people .Further there is nothing wrong for the trust to keep posted annual account on website ---amount collected from people as membership and donation and amount spent on various welfare and other activities.

स्वामी

स्वामी रामदेव जी महाराज सच्चे राष्ट्र भक्त ही नहीं अपितु सारे विश्व का उपकार
करने वाले महा युगपुरुष हैं और 4 जून 2011 को दिल्ली में भ्रष्टाचार मिटाओ सत्याग्रह
अनशन से एक् न‍ई क्रान्ति लाकर एक नवयुग का निर्माण करने जा रहे है |
उनका यह संकल्प अवश्य पूरा होगा इसमें संशय नहीं है क्योंकि सारा विश्व उनके साथ
है|

भारत माता की जय |
वन्दे मात्‍रम |

सभी राष्ट्र हितैषी उनका समर्थन और सत्याग्रह आन्दोलन को सफल करने के लिये
दिल्ली चलो 4 जून 2011 को |

धन्यवाद

राजेन्द्र आर्य‌