Skip navigation.
कृण्वन्तो विश्वमार्यम्

Mantra of the day(Vedic thought of the day)

नमस्ते रुद्र मन्वय: उतो त:इषवे नम:।बाहुभ्यामुत ते नम:॥(यजु।१६।१)

भावार्थ:-जो राज्य किया चाहें,वे हाथ पांव का बल,युद्ध की शिक्षा तथा शस्त्र और अस्त्रों का संग्रह करें।

(महर्षि दयानन्द यजुर्वेद भाष्य)