Warning: Table 'aryasi8x_db1.cache_page' doesn't exist query: SELECT data, created, headers, expire FROM cache_page WHERE cid = 'http://www.aryasamaj.org/newsite/node/25' in /home/aryasi8x/public_html/newsite/includes/database.mysql.inc on line 174

Warning: Cannot modify header information - headers already sent by (output started at /home/aryasi8x/public_html/newsite/includes/database.mysql.inc:174) in /home/aryasi8x/public_html/newsite/includes/bootstrap.inc on line 569

Warning: Cannot modify header information - headers already sent by (output started at /home/aryasi8x/public_html/newsite/includes/database.mysql.inc:174) in /home/aryasi8x/public_html/newsite/includes/bootstrap.inc on line 570

Warning: Cannot modify header information - headers already sent by (output started at /home/aryasi8x/public_html/newsite/includes/database.mysql.inc:174) in /home/aryasi8x/public_html/newsite/includes/bootstrap.inc on line 571

Warning: Cannot modify header information - headers already sent by (output started at /home/aryasi8x/public_html/newsite/includes/database.mysql.inc:174) in /home/aryasi8x/public_html/newsite/includes/bootstrap.inc on line 572
How to display Devanagari fonts in your browser | Aryasamaj
Skip navigation.
कृण्वन्तो विश्वमार्यम्

How to display Devanagari fonts in your browser

warning: Cannot modify header information - headers already sent by (output started at /home/aryasi8x/public_html/newsite/includes/database.mysql.inc:174) in /home/aryasi8x/public_html/newsite/includes/common.inc on line 141.

The Browser can show Hindi fonts. How you enable it, depends on the version of windows you are running.

On Windows XP
Go to Start > Control Panel.

If you are in "Category View" select the icon that says "Date, Time, Language and Regional Options" and then select "Regional and Language Options".

If you are in Classic View select the icon that says "Regional and Language Options".
Select the "Languages" tab and make sure you select the option saying "Install files for complex script and right-to-left languages (including Thai)". A confirmation message should now appear - press "OK" on this confirmation message.

Allow the OS to install necessary files from the Windows XP CD and then reboot if prompted.

For more details please see this :
Enabling_complex_text_support_for_Indic_scripts

जी हां अब

जी हां अब ठीक है परन्तु न्यूमिरिक पैड नहीं चल रहा तथा कुछ मात्राअाें का सिसटम अलग हैं। जैसे मात्रा ताे ठीक है परन्तु अाे की मात्रा नहीं अा रही। अतः साथ् में कैरैक्टर म्ैप भी देना पढ़ेगा। कुछ बदलाव अच्चछे हैं, जैसे कि छाेटी इ की मात्रा ि बाद में डाली जा सकती है।

ओकॆ अब करॊ

ओकॆ अब करॊ

जांच के

जांच के लिए - वंदे मातरम पर चितरंजन सावंत जी की टिप्पणीअ अच्चछी लगी।

जांच के

जांच के लिए - पेस्टिंग नहीं हो रही, परन्तु यहां टाइ॔प लगभग ठीक हो रहा है। कुछ अोर देख्नाना पढेगा।

I was able to write Matra

I was able to write Matra मात्रा without any problem! In Krutidev mapping, it is: ek=k

Please let me know what sequence didn't work for you.

Testing - मातरा I

Testing - मातरा I typed Matra in Krutidev, after त्र when I type ा or even use space bar त्र turns out to become त .However I found a way I.e. after त्र shift by the direction keys & then put matra it comes o. k. like मात्रा. Here the sequence of typing I used was ek=k.

Testing - Yes u are right.

Testing - Yes u are right. It comes ok in Microsoft Internet Explorer. I typed मात्रा। यह ठीक अा रहा है। परन्तु अा की मात्रा फिर भी नहीं अा रही। एक पैरा -

यदि हमें कभी किसी हस्पताल में जाने का अवसर मिले, तो हम वहां लगी भीड़-भाड़ देख् कर चकित हो जाते हैं। जिधर देखते हैं, सुबह से ही लोगों की कतारें लगी होती हैं। स्पष्ट है कि लाखों-करोड़ों लोग अभी भी अपने रोगों या स्वास्थ्य-सम्बन्धी समस्याअों को हल नहीं कर पाए। बल्कि, यह समस्या घटने के बजाय दिनोदिन बढ़ती ही जाती है। तभी तो अाए दिन सरकार को कइ॔ नए अस्पतालों की स्थापना करनी पड़ती है।

अाखिर एसा क्यों?

कारण यह है कि एलोपैथिक चिकित्सा-विधि में रोगों का कारण तो खोजा जाता है, लेकिन यह खोज शरीर के बाहरी या स्थूल विकार की जांच-परख होती है। शरीर के भीतर क्या सूक्ष्म किृयाएं हो रही हैं, उन्हें अाधुनिक चिकित्सा-पद्धति अांखों से अोझल कर देती है।

क्रियाएं

क्रियाएं = Djf;k,a

OK I've fixed some more

OK I've fixed some more things, so try again, and please point out issues if any. क्रियाएं = Djf;k,a अ +ा = आ

There might be more issues lurking, we just need to try and find them.

जांच -

जांच - 'क्रियाएं'लिखने के लिए यह ठीक है। इन के बारे में बताएं कि इन्हें कैसे लिखें - 1- चांद वाली बिंदी। 2 - बड़ा 'उ'। 3 - 'ह' में 'र' और 'रि' की मात्रा। 4 - 'फ' में 'र' की मात्रा। 5- बड़ा 'त'। 6- 'ह'+ आधा 'य'। 7 - 'ह' में आधा 'म'। 8 - 'द' में 'र' की मात्रा। 9 - 'प' में 'र ' की मात्रा। 10 - दुगना 'ट', 'न', 'क','ड','द'। 11 - आधा 'फ'। 12 - 'ट' में 'र' की मात्रा। 13 - 'ख' में 'र' की मात्रा। 14 - 'ड' + 'ढ'। 15 - 'ट' + 'ठ'।

एक वाक्य - हठ करने की लत - लड़की की मां का ध्यान इस ओर गया। उसने एकदम एकतंत्र राज शरू कर दिया। एक-दो बार लड़की खूब रोइ॔, किंतु मां के दृड़ रहने पर वह आठ-दस दिन में ही बिलकुल बदल गइ॔। आठ-दस दिन पहले जो लड़की दुखी रहती थी वही अब पृसन्नचित, हंसोड़ और सुदृड़ मनवाली बन गइ॔।
कुछ शब्द - हृदय, झुकना, शक्ति, पृतिक्रिया, पृकृति,क्रियाओं, शैथिल्य

क्या टिप्पणी में अक्ष्ररों को बड़ा किया जा सकता है?

Size of the font can be

Size of the font can be changed in Firefox by pressing Ctrl+ and reduce using Ctrl- (Press control down and then hit + or -).
In Internet explorer on the top menu, select View->Text Size->Largest

Note that most of these are constructed using the halant character ‘~’

1 मॅं eZ
2 ऊ mw OR mq
3 ह्र g~j
4 फ्र Q~j
5 त्त Rr
6 ह्य g~;
7 ह्म g~e
8 द्र n~j
9 प्र i~j
10 ट्ट V~V No special character
न्न u~u
क्क d~d
ड्ड M~M No special character
द्द n~n
11 फ्म Q~
12 ट्र V~j
13 ख्र [j
14 ड्ढ M~< No special character
15 ट्ठ V~B No special character
Also note the following:
कर्म = dj~e Note that the matra for r goes over ma automatically
गई = xbb note that two "e" make a big "e"

Please let me know if any of this is problematic, or if there are others that need an equivalent code. I would eventually update the Krutidev Map file.

Just testing - मॅं,

Just testing - मॅं, ऊ, ऊ,ह्र- यहाॅं 'ह' में 'िर' की मात्रा चािहए।

हृ = g` यहाँ =

हृ = g`

यहाँ = ;gkZ (Note: I've changed the mapping for chandra-bindu. Its simply Z. eZ = मँ)

हॉल = gkWy To make a chandra use 'W'.

रि = jf (Note that you need to type the cosonent first and put the vowel on it)

हि = gf

I have updated the Map file with these changes and instructions.

जाँच - मँ, ऊ,

जाँच - मँ, ऊ, ऊ, हृ, , हॉल, रि, हि, ह्र, फ्र, त्त - इस प्रकार फायर फाक्स में आ रहा है।

जाँच

जाँच ईनटरनेट एक्सप्लोरर में - मँ, ऊ, ऊ, ह्र,फ्र, त्त,ह्य, ह्म, द्र, प्र, ट्ट, न्न, क्क, ड्ड, द्द, फ्, ट्र, ख्र, ड्ढ, ट्ठ, कर्म, गई - यहाँ ठीक आ रहा है। फायर फाक्स में भी ठीक आ रहा है, परन्तु पहले गलत दिखाई देता है तथा पोस्टिंग के बाद ठीक हो जाता है। दूसरा यहाँ फांट बड़े नहीं किए जा सकते, परन्तु इसकी कोई खास आवश्यकता नहीं है।

बहुत अच्छे

बहुत अच्छे !!!

लगे रहो...

i can read mantra but can't

i can read mantra but can't write.

Namestey, When you go to

Namestey,
When you go to compose an article, go to "Help with Hindi typing" on the top right corner of the page and select Hinglish Typewriter. Then go back and continue to write, you would start getting Hindi letters.
Let us know if this is not clear.
Dhanyavad,
Anupam.

Namastey ji, I have started

Namastey ji,

I have started typing in Hindi with the help of Hinglish Typewriter. But I cannot put 'न्' on top with this. It remains like that only at the end of the word.

Any solution ?

Aditya

Can you give an example of

Can you give an example of what you need to type? Please refer to the Key Map next to each of the typewriters. The "bindu" for न् can be obtained with -M . E.g. ga-Mgaa => (गंगा)
Hope this helps.

subodhkumar हिन्द

subodhkumar
हिन्दी मे फोनेटिक टाइप करने के लिए हिन्दी ट्रान्सलिटरेशन में क्ष त्र "ग्य" यग्य का ग्य कैसे ठीक टाइप करें?
. संस्कृत के दूसरे चिन्ह भी टाइप करने की सुविधा के बारे में जनकारी उपलब्ध कराएं. वेदों को ठीक से वेब पर डालने के लिए यह जानकारी आवश्यक है.
धन्यवाद

Hinglish typewriter की

Hinglish typewriter की कुछ जानकारी जो मुझे है इस प्रकार है |
क्ष = KSa क्ष‌
त्र = tra(space) त्र
ज्ञ = jnja
ऋ = Rr
ञ् = nj
ङ् = ng
ष्ट् = STa
ष्‍ट = S-Ta
क्त = kta
क्‍त् = k-ta
| = |
कृ = ka`
In English typewriter
ळो = Na
ळे = Ns
ळ = N
ळा = Ne

____सामवन्दना_____

ओ३म् अग्न आ याहि वीतये गृणानो हव्य दातये |
नि होता सत्सि बर्हिषि || साम १ ||

प्रभु मेरे प्यारे आ जाओ, गीत स्तुतियों में रम जाओ |
यह हृदय तुम्हारा मन्दिर है, प्रभु इसमें आकर बस जाओ ||
पृभु गीतस्तुति का श्रृवण करो,
यह सफल सूजीवन हवन करो,
मेरी दु:ख पीडा हरने को
हे ईश्वर तुम आगमन करो|
हर हव्य भोग के दाता हो, निजहव्य हमें भी दे जाओ|
यह हृदय तुम्हारा मन्दिर है, पृभु इसमें आकर बस जाओ||
पृभु वसुधा के ओर छोर से,
इस जीवन के सभी ओर से,
पृभु आओ सन्ताप मिटाओ,
अपनी सुखदा कृपा को से |
हो भक्ति मग्न वन्दना करुं, पार्थना दया कर सुन जाओ|
यह हृदय तुम्हारा मंदिर है, पृभु इसमें आकर बस जाओ||
पृभु तुम्हीं हमारे होता हो,
कामना पूर्ति के स्त्रोता हो,
मम हृदय यज्ञ का कुन्ड बना,
गीत तुम्हीं तुम ही श्रोता हो|
मम हृदय यज्ञ का मन्दिर है,प्रभु आहूती लेकर रम जाओ|
यह हृद्य तुम्हारा मन्दिर है,प्रभु इसमें आकर बस जाओ ||

(साभार पन्डित देव नारायण भारद्वाज की पुस्तक "सामवन्दना" से}

राजेन्द्र आर्य 9041342483 (ईमेल: rajenderarya49@gmail.com)