Skip navigation.
कृण्वन्तो विश्वमार्यम्

जिस दिन घमंड अपने सर से उतार देगा

जिस दिन घमंड अपने सर से उतार देगा,
उस दिन तुझे विधाता अनमोल प्यार देगा..

उसके समान जग में दाता न और कोई,
देने पे जब वो आये तो बेशुमार देगा..
...
मन वचन कर्म उसकी आज्ञा अनुसार करले ,
वो तो फ़िदा है तुझपे सर्वस्व वार देगा ..

भगवान छोड़ साथी इन्सान को बनाया ,
सुख में जो साथ देता दुख में भी साथ देगा..

अंतिम समय कहा की नेकी कमा लूं लेकिन,
उस पल 'पथिक' न कोई जीवन उधार देगा..

SENDER:
RAJENDRA ARYA
SANGRUR (PUNJAB)
9041342483

good lines

good lines