Skip navigation.
कृण्वन्तो विश्वमार्यम्

ज्योतिषियों से मेरा नम्र निवेदन‌

ज्योतिषियों से मेरा नम्र निवेदन इस प्रकार है -

आप ज्योतिश कर अपनी खानपान व्यवस्था को जारी रखें | लेकिन आज की रोशनी के जमाने में एक काम अवष्य करें |

वह काम है प्राणायाम!

बस कपालभाती, अनुलोम विलोम और साथ में ओउम का जाप | कम से कम आधा घण्टा लगातार नित्य सुबह व शाम |

फिर बताइये आपके गृह ‌अधिक असर करते हैं, आपके दिये पत्थर अधिक असर करते हैं, अथवा भीतर बहते प्राण, जिनका आयाम कर , उनकी राह् को व्यवधान रहित कर, आप स्वयं व सबको उन सब सुखों से भर सकते हैं, जो आप पहले अन्य दुर्गम उपायों से प्राप्त करने का प्रयास करवाते रहे हैं ?