Skip navigation.
कृण्वन्तो विश्वमार्यम्

भरोसा कर तू ईश्वर पर

भरोसा कर तू ईश्वर पर तुझे धोखा नहीं होगा।
यह जीवन बीत जायेगा तुझे रोना नहीं होगा।।

कभी सुख है कभी दुख है, यह जीवन धूप-छाया है।
हँसी में ही बिता डालो, बिताना ही यह माया है।।१।।

... जो सुख आवे तो हंस लेना, जो दुःख आवे तो सह लेना।
न कहना कुछ कभी जग से, प्रभु से ही तू कह लेना।।२।।

यह कुछ भी तो नहीं जग में, तेरे बस कर्म की माया।
तू खुद ही धूप में बैठा लखे निज रूप की छाया।।३।।

कहां पे था, कहां तू था, कभी तो सोच ए बन्दे !
झुकाकर शीश को कह दे, प्रभु वन्दे ! प्रभु वन्दे !!४!!

Post by:
Rajendra P.Arya
Sangrur (Punjab)
9041342483

shri Rajendra

shri Rajendra jee

Namaste.
Happy to see this very old AS Bhajan.

Prabhu say hee too kaH lenaa!!

PRABHU-------vsnde prabhu vsnde!