Skip navigation.
कृण्वन्तो विश्वमार्यम्

arya nirmatri sabha laghu gurukul

सत्र में मेरा अनुभव ।

आर्य नरेन्द्र जी नरवाना की प्रेरणा से मैं दो दिवसीय आर्य प्रशिक्षण सत्र में 10 -11 सितम्बर पंचकुला में बैठा । आचार्य हनुमत उपाध्याय जी के तर्कशील प्रवचन अति प्रभावशाली रहे ।
दो दिन के इस लघु गुरुकुल में जो ज्ञानवर्धक कार्यक्रम चला ऐसा मैंने अपने जीवन में पहली बार देखा । इन दो दिनों में जो भी हुआ वो अन्य मंचों पर वर्षो सुनकर भी नही मिला ।
ये अनुभव शब्दों में नही लिखा जा सकता ।
अगर आप भी ऐसा अनुभव व् विद्या लेना चाहते है तो आप भी 2 दिवसीय सत्र अवश्य लगायें ।

*राजेन्द्र आर्य*
सदस्य
आर्य समाज संगरूर ।