Skip navigation.
कृण्वन्तो विश्वमार्यम्

Zakir Naik challenged for debate by Paropkarini

On behalf of Paropkarini Sabha, Dr Zakir Naik and IRF have been invited for an open house debate. They have been mailed and informed by phone as well. We keenly await their response. Following is the extract of invitation:

Agnivesh challenged by Paropkari for debate

Self-proclaimed sanyasi Agnivesh has been formally challenged by Paropkarini Sabha for his alleged support to homosexuality. Following is the extract of communication sent to him.

Namaste Agnivesh

महात्मा स्वामी नारायण जी का संक्षिप्त् जीवन परिचय (4)

(गतांक से आगे)

सामाजिक सुधार : -‍ महर्षि दयानन्द ने देश में होने वाली सामाजिक कुरीतियों, अन्धविश्वासों के विरुद्ध संघर्ष का बिगुल बजाया था | उनके आने से पहले अन्धविश्वासों नें हमारी पुरातन संसकृति को भस्मप्राय कर दिया था | महर्षि के अथक प्रयत्न से फिर से प्रकाश के प्रभाव दीखने लगे | वेदों की ज्योति तो प्रज्वलित कर दी पर उनको इतना समय न मिला कि उसे दिग्दिगन्त तक फैला सकें | यह कार्य उन्होंने आर्य समाज पर छोड़ दिया | आर्यसमाज उनका उत्त‌राधिकारी था | आर्यजनों ने यथाशक्ति वह प्रकाश फैलाने का प्रयत्न किया | म. नारायण स्वामी भी ऋषि के उन शिष्यों में से थे जिन्होंने आजन्म धर्म, देश व जाति की सेवा करते हुए वेद ज्योति को प्रज्वलित रखा | सार्वदेशिक आर्य प्रतिनिधि सभा के प्रधान होने के कारण वैसे भी आप पर बहुत जिम्मेदारियां थीं | आर्यसमाजों की आपसी गुटबाजी या बाहरी झगड़ों को सद्भावनापूर्वक निपटाना भी आपके कार्यक्षेत्र में आता था | कइं बार तो अन्न त्याग की धमकी भी देनी पड़ी | ऐसा ही एक झगड़ा आर्य समाज चावड़ी बाजार, दिल्ली के स्कूल (दयानन्द नैशनल स्कूल) के प्रधानाध्यापक एवं कमेटी में हो गया | झगड़ा बढ़ता देखकर ‌महात्मा नारायण स्वामी को मध्यस्थता के लिए बुलाया गया | आपने अत्यन्त चतुरतापूर्वक दोनों का समझौता करा सामंजस्य स्थापित किया | इसी प्रकार भारतीय शुद्धि सभा के सदस्यों में आपसी विरोध दूर किया | परन्तु यह सभा अधिक दिन न चल सकी |

महर्षि दयानन्द कृत आर्याभिविनयः से (39)

प्रार्थना विषय

त्वं हि विश्वतोमुख विश्वतः परिभूरसि |
अप नः शोशुचदधम् ‌||39||
ऋ. 1|7|5|6||

ARYASAMAJ NOIDA SHARAWANI AVEM YAGYOPVEET SANSKAR SAMAROH-

ARYAVRIND,
ARYASAMAJ NOIDA KE TATWAVDHAN MAIN AAGAMI 27AUGUST SE RAVIVAAR 30 AUGUST TAK SHARAWANI KE UPLAKASH MAIN SAMVED PARAYAN YAGYA AAYOJIT KIYA JAA RAHA HAI. ANTARKHAYATI PRAPAT LEKHAK, CHINTAK, SUDHARAK SH VED PARTAP VAIDIK IS AWASAR PAR APNE VISCHARON SE MARGDARSHAN DENGE.

A H1 N1 (SWINE FLU)

A H1 N1 (SWINE FLU)
AGNIHOTRA AS THE MOST POWERFUL TOOL TO COMBAT THE FLU

*************************************************************************
INVITATION TO A ONE-DAY AKHANDA YAJNA

A one-day Akhanda Yajna (non-stop, from sunrise to sunset)

वेदो में विज्ञान व शिल्पविद्या के रहस्य (13)

युञ्जन्ति ब्रध्नमरुषं चरन्तं परि तस्थुषः | रोचन्ते रोचना दिवि ||

ऋग्वेद 1|6|1||

Syndicate content